कार्यालय पुलिस अधीक्षक, जिला झाबुआ प्रेसनोट दिनांक 26.11.2022

झाबुआ पुलिस ने किया रानापुर क्षेत्र में हुए गोली कांड का खुलासा

घटना का विवरण :- दिनांक 17.11.2022 की रात्री में फरियादी मनीष व उसका परिवार खाना खाकर सो गये। घर के अंदर वाले कमरे में मनीष व जीजा पिन्टु सोये हुए थे तथा उसके पिता मकना, मां व दो बहने घर के बाहर वाले कमरे में सो गये थे कि दिनांक 18.11.2022 को रात करीब 02.00 बजे गोली की आवाज से सभी उठ गये। बाहर वाले कमरे मे जाकर देखा तो फरियादी मनीष के पिता मकना के बांये तरफ पुट्ठे से खुन निकल रहा था तथा मकान के उपर के 02 कवेलु हटे हुए थे। परिवारवालों ने गोली मारने वाले व्यक्ति को बाहर जाकर ढुंडा लेकिन जब तक वह व्यक्ति वहां से अंधेरे का फायदा उठाकर भाग गया। मकना परमार को किसी अज्ञात व्यक्ति नें जान से मारने की नियत से बन्दुक से गोली मारकर हत्या कर दी। मृतक मकना के शव का शार्ट पी.एम. करवाया गया तो डॉ. द्वारा मृतक मकना पिता भुरजी परमार उम्र 45 वर्ष निवासी ग्राम बुधाशाला की मृत्यु बंदुक की गोली लगने से आई चोट से होना लेख किया गया। जिस पर थाना रानापुर में हत्या का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

                 सुचना मिलते ही मामले की गंभीरता को देखते हुए स्वयं पुलिस अधीक्षक झाबुआ श्री अगम जैन एवं अति. पुलिस अधीक्षक झाबुआ श्री प्रेमलाल कुर्वे, एसडीओपी पेटलावद सुश्री बबीता बामनिया, थाना प्रभारी रानापुर कैलाश चौहान द्वारा तत्काल घटनास्थल का निरीक्षण किया गया। व पुलिस अधीक्षक झाबुआ द्वारा घटना का जल्द से जल्द खुलासा करने के निर्देश दिये गये।

घटना का खुलासा :-

                             पुलिस द्वारा आसपास के लोगो से पुछताछ की गई। घटना स्थल का बारीकी से निरीक्षण किया गया। पुलिस जब मृतक मकना के परिजनों से विभिन्न पहलुओं पर बारीकी से जांच कर साक्ष्य जुटा रही थी कि पुलिस के सामने यह तथ्य आया कि मृतक मकना की पत्नि सीवाबाई जांच में सहयोग ना करते हुए कुछ तो छिपा रही थी। जिस पर सीवाबाई से संख्ती से पुछताछ की गई तो उसने सारा राज उगल दिया। आरोपीया सीवा ने बताया कि मेरे पति मकना के पास एक 12 बोर देशी कट्टा था। वह प्रतिदिन अपने पास ही लेकर सोता था। घटना वाली रात को सीवाबाई करीब 02.00 बजे बाथरुम जाने के लिये उठी, तो सीवाबाई ने अपने पति की खाट पर एक देशी कट्टा रखा हुआ देखा तो, उसने उस कट्टे को उठाया और उसका खटका दबाया तो देशी कट्टा चल गया और गोली मृतक मकना परमार के बाये पुठ्ठे पर लगी। उसने कट्टा हडबड़ाहट में छुपा लिया और मौका देखकर अपने घर के उपर लगे दो कवेलु हटा दिये। तभी उसी कमरे सो रही मृतक मकना की लडकिया व उसका लडका व दामाद उठ गये तो आरोपीया ने बताया कि उपर कवेलु हटाकर किसी अज्ञात व्यक्ति ने मृतक मकना को गोली मार दी है और आरोपीया आसपास रहने वाले लोगो को बुलाने चली गयी तथा मौका देखकर जिस कट्टे से गोली चली थी, उस कट्टे को साडी के पल्लु मे छुपाकर घर के पास स्थित एक कुए मे फेक दिया। आरोपीया सीवाबाई को गिरफ्त में लिया जाकर उसकी निशादेही से 12 बोर का देशी कट्टा जप्त किया गया।

आरोपी का नाम :- 

  1. आरोपीया सीवा पति मकन परमार उम्र 44 वर्ष निवासी बुधाशाला (गिरफ्तार)

सराहनीय कार्य में योगदान :-

                           हत्या के अपराध का खुलाशा करने मे थाना राणापुर की टीम थाना प्रभारी राणापुर निरी. कैलाश चौहान, उनि. पल्लवी भांबर चौकी प्रभारी कुंदनपुर, उनि. लोकेन्द्र चौधरी, कार्य.सउनि. सुरसिह चौहान, सउनि. महेश भामदरे, कार्य.प्र.आर. 502 तेरसिह, कार्य.प्र.आर. 391 जामसिह, आर. 177 केदार  महिला आर. 267 रिंकु,म.आर. 670 ममता म.आर. 269 बिन्दु, आर. 98 मगंलेश, आर. 573 संदीप, आर.193 दीपक का सराहनीय योगदान रहा ।