CM helpline के माध्यम से ब्लैक मेलिंग कर अवैध वसुली करने वाले गिरोह का पर्दाफाश,

आरोपी झाबुआ पुलिस गिरफ्त में

                      ग्राम रोजगार सहायक कचराखदान श्री जितेन्द्र चोबे ने बताया कि कोई अज्ञात व्यक्ति रंजीत कुमार निवासी इंदौर के नाम से सीएम हेल्पलाईन पर शिकायत कर उस शिकायत को बंद कराने हेतु 2,500/-रू. की मांग की गई। शिकायतकर्ता रंजीत कुमार द्वारा शिकायत का निराकरण हेतु झाबुआ बुलाने पर, झाबुआ न आकर उसके द्वारा इंदौर बुलाया जाता है व शिकायत का निराकरण करने हेतु 2,500/-रू. की मांग की गई। ऐसा रंजीत कुमार द्वारा ग्राम पंचायत कचराखदान, अलस्याखेडी, काजबी, गोदरिया, बेडदा, महुडीपाडा के सचिव के खिलाफ भी शिकायत कर 2,500/-रू. की मांग की गई। इनके द्वारा एक ही मोबाईल से पेटलावद जनपद पंचायत की कुल 06 ग्राम पंचायतों में 09 अलग-अलग शिकायतें की गई थी। शिकायत को बंद कराने हेतु अमन वर्मा के बैंक खाते में रूपयों को ट्रांसफर करने हेतु कहा गया, जिस पर 2,500/-रू. ट्रांसफर भी किये गये।

                 उक्त शिकायत एसडीएम पेटलावद श्री शिशिर गेमावत के संज्ञान में आते ही मुख्य कार्यपालन अधिकारी पेटलावद श्री अमित व्यास से इसके संबंध में जांच कराई गई। जांच उपरांत प्रतिवेदन प्रस्तुत करने पर ब्लैक मेलिंग कर अवैध वसुली करने, 2500/-रू. की मांग कर न देने पर धमकी देकर बदनाम करने पर अज्ञात आरोपियों के विरूद्ध थाना पेटलावद में अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

घटना का खुलासा :-

                      अपराध पंजीयन के उपरांत घटना की सूचना प्राप्त होते ही पुलिस अधीक्षक झाबुआ श्री आशुतोष गुप्ता द्वारा थाना प्रभारी पेटलावद को त्वरित कार्यवाही कर इस प्रकरण से जुड़े आरोपियों का पता लगाकर उक्त आरोपियों को तत्काल पुलिस गिरफ्त में लेने हेतु निर्देशित किया गया।

                      उक्त प्रकरण पर पुलिस टीम द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुए इसके संबंध में जानकारी जुटाई जाने लगी। इस हेतु पुलिस टीमों को लगाया गया। इस बीच एक अहम जानकारी पुलिस को प्राप्त हुई की, जिस खाते में रूपये ट्रांसफर करने को कहा जाता था वह खाता अमन पिता रामगोपाल वर्मा निवासी जिला खरगोन का है जो की भारत समाचार ग्लोबल इंडिया TV का पत्रकार भी है। यह भी जानकारी प्राप्त हुई कि अमन वर्मा अपने दोस्त राहुल एवं मनीष के साथ मिलकर CM helpline पोर्टल पर शिकायतें कर ब्लैक मेलिंग कर पैसे एंठने का कार्य किया जा रहा है। जिस पर पुलिस टीम द्वारा आरोपी अमन, राहुल एवं मनीष को उनके निवास स्थानों से पुलिस गिरफ्त में लिया गया। आरोपियों को थाने लाकर सख्ती से पुछताछ करने पर इनके द्वारा रंजीत कुमार के नाम से एवं अन्य नामो से कई शिकायते की गई है। उक्त शिकायतों को बंद करवाने हेतु इनके द्वारा ब्लैक मेलिंग कर पैसों की मांग की जाती है।

                      सीएम हेल्पलाईन पोर्टल पर सुक्ष्मता से परीक्षण करने पर इनके द्वारा रंजीत कुमार के नाम से अलग-अलग जिलों में निम्न शिकायते किया जाना ज्ञात हुआ है :-

क्रं.जिलाकुल शिकायतें
01झाबुआ21
02अलीराजपुर04
03धार38
04बड़वानी04
05देवास07
06खण्डवा02
 कुल शिकायते76

                 पेटलावद थाना क्षेत्र को छोड़कर अन्य थाना क्षेत्र में की गई शिकायतों के संबंध में जानकारी निकाली जा रही है। संबंधित अधिकारियों को इसके बारे में अवगत कराया जाकर आवेदन प्राप्त होने पर उचित वैधानिक कार्यवाही की जाऐगी।

                 अन्य जिलो के अधिकारियों को भी इस गैंग के Modus Operandi के बारे में अवगत कराया जा रहा है, जिससे की यदि उन जिलों में भी किसी के साथ ऐसी घटना हुई हो तो वह अपने संबंधित थाने में जाकर उचित वैधानिक कार्यवाही करा सके।

                 अमन वर्मा के आईडीएफसी फास्ट बैंक के खाता क्रं. 10061124851 को ब्लॉक कराया जा रहा है।

आरोपियों के नाम :-

  • अमन पिता रामगोपाल वर्मा उम्र 23 वर्ष निवासी मण्डलेश्वर जिला खरगोन
  • राहुल पिता दुर्गादास कुशवाह उम्र 31 वर्ष निवासी मण्डलेश्वर जिला खरगोन
  • मनीष पिता मांगीलाल राठौर उम्र 21 वर्ष निवासी अटूटखास बडा टाण्डा, तहसील पुनासा जिला खण्डवा

सराहनीय कार्य में योगदान :-

                       संपुर्ण घटनाक्रम का खुलासा करने में एसडीओपी पेटलावद सुश्री सोनु डावर, थाना प्रभारी पेटलावद निरी. संजय रावत, उनि लोकेन्द्र चौधरी, सउनि राजेन्द्र राजपूत, सउनि राधेश्याम, प्रआर पवन, प्रआर. शाबीर, आर. जितेन्द्र का सराहनीय योगदान रहा उक्त सराहनीय कार्य पर पुलिस टीम को पुलिस अधीक्षक झाबुआ द्वारा पुरूस्कृत करने की घोषणा की।

जनसंपर्क अधिकारी

श्री आनंदसिंह वास्कले

अति. पुलिस अधीक्षक

जिला झाबुआ (म.प्र.)